delhi pollution alert delhi air quality worst before diwali 2018 – Pollution Alert : दिवाली से पहले बिगड़ी दिल्ली की हवा, और बिगड़ने की चेतावनी, Ncr Hindi News

दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गयी है। जहां पड़ोसी राज्यों के पराली जलाए जाने वाले क्षेत्रों से लगातार हवा बहकर इधर आ रही है। अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए आगाह किया कि इस दिवाली पर पिछले साल की तुलना में कम प्रदूषणकारी पटाखे फोड़े जाने के बाद भी प्रदूषण का स्तर काफी ज्यादा बढ़ सकता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 320 के स्तर पर दर्ज किया गया जो ‘बहुत खराब’ श्रेणी में आता है।

बोर्ड ने कहा कि सोमवार को एक्यूआई 434 के स्तर पर गंभीर श्रेणी में रिकॉर्ड किया गया था जो इस मौसम का अब तक का सर्वाधिक था। दिल्ली के 25 इलाकों में वायु की गुणवत्ता ‘काफी खराब’ दर्ज की गई जबकि आठ क्षेत्रों में यह ‘खराब रही’। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता ‘काफी खराब’ दर्ज की गई। सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली- राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पीएम 2.5 का स्तर 186 और पीएम10 का स्तर 319 दर्ज किया गया।
खूब मस्ती से मनाएं दिवाली, लेकिन सेहत के लिए रखें इन बातों का विशेष ध्यान

अधिकारी लगातार बने हुए प्रदूषण की वजह हवा की दिशा को बताते हैं जो पंजाब और हरियाणा के उन इलाकों से बह रही है जहां पराली जलाई जाती है। केंद्र सरकार की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (सफर) के अनुसार दिवाली के बाद दिल्ली की वायु गुणवत्ता बिगड़कर गंभीर और आपात श्रेणी में जा सकती है। 
देहरादून पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केदारनाथ में मनाएंगे दीपावली

दिल्ली की वायु गुणवत्ता पिछले तीन सप्ताह में काफी खराब हो गई है। सोमवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता इस मौसम की सबसे खराब दर्ज की गई। शहर में प्रदूषण तय स्तर से आठ गुना ज्यादा दर्ज किया गया।  चिकित्सकों का कहना है कि वायु प्रदूषण का लोगों की सेहत पर असर एक दिन में 15-20 सिगरेट पीने के बराबर है। सीपीसीबी के आंकड़ों के अनसार दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) मंगलवार को 320 दर्ज किया गया। यह बेहद खराब श्रेणी में आता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 394 दर्ज किया गया जो कि बहुत खराब श्रेणी में आता है। 
यहां पिछले 30 साल से मनाई जा रही है ग्रीन दिवाली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com