robot who resize himself invented in china wounds heals itself – अपना आकार खुद बदलने वाला रोबोट तैयार, खुद भरेंगे घाव, Hindi News

साइंस फिक्शन फिल्म टर्मिनेटर में विलेन रोबोट एंड्रॉयड आपने जरूर देखा होगा, जो अपना आकार खुद बदल लेता था और अपनी चोट भी ठीक करने में सक्षम होता है। अब ऐसा ही रोबोट हमारे आस-पास नजर आएगा। दरअसल, चीन ने एक छोटा-सा रोबोट तैयार किया है, जो आकार बदल सकता है और चोट भी खुद ठीक कर सकता है। आइए जानते हैं उसके बारे में।

चीन में शोधकर्ताओं ने मिलकर एक हथेली में समा जाने वाला रोबोट तैयार किया है, जो आकार बदलने और खुद की चोट ठीक करने में माहिर है। इस रोबोट को बनाने की प्रेरणा फिल्म टर्मिनेटर से प्राप्त हुई है। इस प्रोटोटाइप को बनाने में शोधकर्ताओं ने छोटे प्लास्टिक पहिए, एक लीथियम बैटरी और द्रव गैलियम का इस्तेमाल किया है। एक वेबसाइट के मुताबिक इस प्रोटोटाइप को यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ऑफ चीन और ऑस्ट्रेलिया स्थिति यूनिवर्सिटी ऑफ वूलगोंग के शोधकर्ताओं ने मिलकर तैयार किया है।

ब्रिटेन में रोशनी का त्योहार मनाए जाने के पीछे है यह खास वजह

कैसे हुआ तैयार 
शोधकर्ताओं के मुताबिक लिक्विड मेटल एलॉय सॉफ्ट रोबोट बनाने के लिए एकदम सटीक विकल्प है, क्योंकि इसमें हाई कंडक्टविटी, बेहतर नियंत्रण और शानदार फ्लेक्सिबिलिटी पाई जाती है। इन्हीं खूबियों की वजह से इन्हें कई मुश्किल कार्यों में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह कई मिलिट्री कार्यों में इस्तेमाल किए जा सकते हैं यहां तक कि मेडिकल क्षेत्र में भी इनका योगदान अमूल्य हो सकता है। हालांकि अभी शोधकर्ताओं ने इस बात का जवाब नहीं दिया है कि यह कब से इस्तेमाल करने लिए बाजार में उपलब्ध हो सकेगा। 

कैसे करता है काम 
यह रोबोट अपनी शानदार फ्लेक्सिबिलिटी के कारण किसी भी अवस्था में मुड़ जाता है। इसका आकार इतना छोटा है कि वह एक मुट्ठी में समा सकता है। जानकारी के मुताबिक यह एक गोली का आकार भी ले सकता है और पेट में जाने के बाद यह अपना आकार बदलकर अपना काम शुरू कर सकता है और काम पूरा होने के बाद यह दोबारा गोलाकार लेकर पेट से बाहर आ सकता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक इसका शरीर मुलायम हैं, जिस वजह से इंसानी शरीर को अंदर से नुकसान नहीं पहुंचाएगी। 

रोबोट कैसे भरेगा अपने जख्म 
यह आकार बदलने वाला रोबोट खुद के जख्म यानी टूट-फूट को पूरा करने में माहिर है। शोधकर्ता के मुताबिक इसमें लिक्विड मेटल का इस्तेमाल किया गया है, जो बेहद ही कम तापमान पर द्रव अवस्था में बदल जाता है। इसी खूबी की वजह से वह अपने घाव को तुरंत भर लेता है और अपने शेष कार्य को अंजाम देने के लिए उतर जाता है। 

चीन नहीं बताएगा पाकिस्तान को कितनी आर्थिक मदद दी

क्या है समस्या 
दरअसल, रोबोट को इंसान अपनी सहूलियत के मुताबिक तैयार करना चाहता है ताकि घर में वह ज्यादा जगह न घेरे। ऐसे में साइंस फिक्शन फिल्म टर्मिनेटर में दिखाए गए रोबोट एक इंसान के लिए अपने आप को कई आकार में बदल लेते हैं। यहां तक कि कुछ रोबोट को खुद को कार बस और ट्रक के आकार में परिवर्तित कर लेते हैं। ऐसे में उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जानें में किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com