people attacks and beats head constable after challan – चालान काटा तो हेडकांस्टेबल के घर पर हमला बोला, की तोड़फोड़ और फायरिंग, Hindi News

दिल्ली के छावला इलाके में चालान काटने से नाराज बदमाशों ने शनिवार रात ट्रैफिक पुलिस के हेड कांस्टेबल के घर में घुसकर तोड़फोड़, फायरिंग और लूटपाट की। छावला पुलिस ने पीड़ित हेडकांस्टेबल संजय कुमार की शिकायत पर संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि, अभी तक इस मामले में किसी की  भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

ये भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस की भर्ती परीक्षा में ब्लूटूथ से नकल करने की कोशिश, तीन परीक्षार्थी गिरफ्तार 

द्वारका जिले के डीसीपी अंटो अल्फांसो के अनुसार, हेडकांस्टेबल संजय कुमार कापसहेड़ा ट्रैफिक सर्किल में तैनात हैं। वह परिवार सहित कुतुब विहार फेज वन गोयला डेरी में रहते हैं। शनिवार को संजय ने कापसहेड़ा इलाके में धुल सिरसपुर गांव के ही रहने वाले प्रताप गोदारा की बाइक का रेडलाइट जंप करने पर चालान कर दिया था। इसे लेकर प्रताप की संजय से बहस भी हुई थी। 

ये भी पढ़ें; 1 साल के लिए बढ़ा अरविंद केजरीवाल का कार्यकाल, 2020 तक रहेंगे पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक

इस दौरान आरोपी ने पुलिसकर्मी को देख लेने की धमकी भी दी थी। संजय शनिवार रात ड्यूटी खत्म कर घर जा रहा था। रास्ते में धुल सिरसपुर गांव में पान की दुकान पर रुककर वह पान खाने लगा। तभी वहां पर प्रताप गोदारा आ गया और संजय से दोबारा झगड़ा करने लगा, लेकिन वहां मौजूद लोगों के बीच-बचाव करने पर वह चला गया और संजय अपने घर पर आ गया।

20 मिनट तक तांडव 

रात करीब 12 बजे प्रताप अपने तीन-चार दोस्तों के साथ संजय के घर पर पहुंचा। वह हेडकांस्टेबल को अपशब्द कहने लगा और साथियों के साथ मिलकर घर के सामने खड़ी सरकारी बाइक डी 1 वन एसएस 3022 को क्षतिग्रस्त कर दिया। फिर हमलावरों ने फायरिंग की और संजय के घर का दरवाजा तोड़ दिया और बिजली के मीटर को भी तोड़कर लूटपाट की। 

हमलावरों ने सबूत मिटाने के लिए संजय के पड़ोसी कांस्टेबल राम स्वरूप मीणा के घर पर लगे सीसीटीवी कैमरों को भी तोड़ दिया। इस बीच पीड़ित ने सौ नंबर पर फोन कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस के आने से पहले ही हमलावर भाग निकले। 

इलाके में दहशत का माहौल 

हेड कांस्टेबल के घर पर तोड़फोड़ और फायरिंग से इलाके में दहशत का माहौल बन गया। डर के मारे लोग घरों में दुबक गए । जब मौके पर पुलिस पहुंची, तब जाकर लोगों में हिम्मत आई और वे बाहर निकले। स्थानीय लोगों का कहना है कि बदमाशों ने दखल देने पर जान से मारने की धमकी दी थी और वे लगातार फायरिंग कर रहे थे, इसलिए किसी की हिम्मत उनका सामना करने की नहीं हुई।   

पुलिस पर पहले भी हमले

-4 जुलाई 2018 : बुराड़ी सर्किल में तैनात कांस्टेबल अमित की चालान काटने पर बदमाशों ने पिटाई की
-14 जुलाई 2015 : सीलमपुर में चालान काटने पर स्थानीय लोगों ने दो ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की पिटाई की, वीडियो वायरल होने पर खुलासा हुआ 
-11 मई 2015 : तुगलक रोड सर्किल में चालान काटने पर महिला से हुआ विवाद हेडकांस्टेबल दिनेश को पड़ा भारी, पहले बर्खास्त और फिर हुए गिरफ्तार, बाद में अदालत से बरी हुए 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com