2 lakhs 66 thousands post vacant in railway due to retirement in last 10 years – 10 साल में सेवानिवृत्ति के कारण रेलवे में 2.66 लाख पद रिक्त, Career Hindi News

रेलवे में पिछले एक दशक से जिस रफ्तार से कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति हुई है, उस रफ्तार से उनकी जगह दूसरों की बहाली नहीं हो रही है। यही वजह है कि रेलवे में ग्रुप डी के अब तक 2.66 लाख पद रिक्त हैं। सूचना के अधिकार अधिनियम से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 2008-09 में रेलवे में कर्मचारियों की कुल संख्या 13,86,011 थी। लेकिन 2016-17 के दौरान रेलवे में कुल 13,08,323 कर्मचारी कार्यरत थे। यानी 80 हजार कर्मचारियों की कमी सेवानिवृत्ति के कारण हुई। इसके अलावा यात्रियों के दबाव के बाद जो नए पद सृजित हुए, उसे जोड़ दे तो ग्रुप डी में नवंबर 2018 तक रेलवे में ग्रुप-सी और डी के करीब 2,66,790 पद रिक्त थे। 

 

2008 से कभी भी सेवानिवृत्ति से ज्यादा नियुक्तियां नहीं हुईं
इस प्रकार हर साल जितने कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए, उसके मुकाबले नई भर्तियां कम हुईं। दुनिया का सबसे बड़ा नियोक्ता प्रतिष्ठान भारतीय रेल भी नौकरियां देने में विफल रहा है। वर्ष 2008 से लेकर 2018 तक एक भी साल ऐसा नहीं रहा, जब रेलवे के जितने कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए, उससे अधिक नई भर्तियां हुईं हों। इसलिए रेलवे में रिक्त पदों की संख्या करीब तीन लाख हो गई है। 

साल दर इस प्रकार बढ़ी रिक्तियां
साल——-रिटायर्ड हुए——रिक्तियां.

2008-09–40,290—-13,870

2009-10–41,372–11,825

2010-11–43,251–5,913 

2011-12–44,360–23,292 

2012-13–68,728–28,467 

2013-14–60,728–31,805

2014-15–59,960–15,191

2015-16–53,654–27,995

2016-17–58,373–19,587

2017-18–19,100    अनुपलब्ध 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com