Kumbh Mela 2019 on the occasion of Paush Purnima more than one crore devotees has taken bath in holy ganga river at sangam – कुंभ मेला: पौष पूर्णिमा पर एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी, UP Hindi News

कुंभ के दूसरे प्रमुख स्नान पर्व पौष पूर्णिमा पर 1.07 करोड़ श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती में स्नान कर पुण्य लाभ कमाया। इस स्नान के साथ ही एक महीने का कल्पवास शुरू हो गया। तीर्थ-पुरोहितों के शिविरों में 10 लाख से अधिक कल्पवासियों ने डेरा डाल दिया है। माघी पूर्णिमा के स्नान के साथ कल्पवास का संकल्प पूरा होगा।

स्नान के लिए 35 घाट बनाए गए थे। पौष पूर्णिमा पर अखाड़ों का शाही स्नान नहीं होने के कारण पूरा संगम नोज आम श्रद्धालुओं के स्नान के लिए खोल दिया गया था। दूसरे प्रमुख स्नान पर्व को देखते हुए रविवार सुबह से ही मेला क्षेत्र में वाहनों का प्रवेश बंद करने का प्रशासन ने दावा किया था। लेकिन सोमवार को सुबह से शाम तक मेला क्षेत्र में चार और दो पहिया वाहन घूमते नजर आए। 

कुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद और डीआईजी मेला केपी सिंह ने सोमवार शाम मीडिया सेंटर में बताया कि पौष पूर्णिमा पर 1.07 करोड़ श्रद्धालुओं ने  संगम व अन्य घाटों पर  स्नान किया। सुबह 6 से 12 बजे तक सर्वाधिक लोगों ने स्नान किया। वाहनों पर गृहस्थी के सामान के साथ तुलसी के पौधे, कांसा लेकर बड़ी तादाद में कल्पवासी और श्रद्धालु रविवार को ही शिविरों में पहुंच गए थे। कल्पवासियों ने स्नान, दान कर पुण्य लाभ कमाया। 

24 को अक्षयवट, पातालपुरी और संगम क्षेत्र में प्रवेश प्रतिबंधित
कुंभ मेला में प्रवासी भारतीय अतिथियों के 24 जनवरी को आगमन के मद्देनजर अक्षयवट, पातालपुरी, किला घाट से लेकर संगम नोज तक के स्नान घाट और अरैल क्षेत्र के वीआईपी घाट (विश्व सहभागिता क्षेत्र-फ्लैग एरिया) से लेकर टेंट सिटी तक के स्नान घाट श्रद्धालुओं के आवागमन व स्नान के लिए प्रतिबंधित रहेंगे। मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने बताया कि सेक्टर नंबर 5, 6, 7 एवं झूंसी क्षेत्र में स्थित गंगा नदी के सभी स्नानघाट श्रद्धालुओं के लिए खुले रहेंगे। मेलाधिकारियों ने श्रद्धालुओं एवं आमजन से अनुरोध किया है कि प्रवासी भारतीय अतिथियों के आगमन एवं सुरक्षा में सहयोग प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com