10 month old son give fire to his martyrs father Hari Singh who died in Pulwama encounter – पुलवामा मुठभेड़: दस माह के बेटे ने शहीद हरी सिंह को मुखाग्नि दी, Hindi News

Pulwama Encouter: पुलवामा मुठभेड़ में सोमवार को शहीद हुए सेना के सिपाही हरी सिंह का मंगलवार को उनके पैतृक गांव राजगढ़ में अंतिम संस्कार किया गया। 10 महीने के बेटे लक्ष्य ने शहीद पिता को स्पर्श किया और मुखाग्नि दी।

शहीद का पार्थिव शरीर जैसे ही राजगढ़ पहुंचा, लोग अंतिम दर्शन और अपनी श्रद्वांजलि देने के निकल पड़े। इस दौरान लोगों ने नम आंखों और शहीद हरी सिंह अमर रहे के गगनभेदी नारों के साथ वीर बेटे को विदाई दी। केंद्रीय राज्य मंत्री और गुरुग्राम के सांसद राव इंद्रजीत सिंह पूरे कार्यक्रम में मौजूद रहे और वीर सपूत को नमन करते हुए श्रद्वांजलि अर्पित की।

लोगों का हुजूम
शहीद के अंतिम दर्शन को लिए दिल्ली-जयपुर हाईवे से गांव तक लोगों को हुजूम उमड़ा रहा। लगभग 15 किलोमीटर के बीच में सफर में सैकड़ों लोग श्रद्धांजलि देने के लिए फूलमालाएं लेकर खड़े रहे। इनमें बड़ी संख्या स्कूली बच्चों की भी थी। सेना के वाहन में जब पार्थिव शरीर राजगढ़ स्थित जवान के घर पहुंचा तो उसकी वृद्ध मां पिस्ता देवी, पत्नी राधा देवी व परिजन अपने को काबू नहीं रख पाए और लिपटकर रो पड़े। राधा की गोद में इकलौता 10 महीने का मासूम बेटा लक्ष्य इस नजारे को देख-देख कर रोए जा रहा था। वह अपने पिता की शहादत से बेखबर था। पत्नी बेहोशी की हालत में रही। 

कार्रवाई का आश्वासन दिया
केंद्रीय राज्य मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने कहा कि यह आतंकी हमला दुर्भाग्यपूर्ण है। इसे लेकर पूरे देश की जनता में भारी आक्रोश है। जनता में सिर्फ एक ही आवाज है कि बदला चाहिए। सरकार भी इस मामले पर बेहद गंभीर है। शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने कहा कि सरकार शहीद परिवार के साथ खड़ी है। शहीद के परिजनों को 50 लाख रुपये देने का सरकार ने निर्णय लिया हुआ है। सरकार से जो अन्य मदद होगी वह भी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com