112 common emergency helpline number Start from 16 States – एकल आपातकाल हेल्पलाइन नंबर 112 शुरू, डायल करते ही 10 लोगों तक पहुंचेगी सूचना, Hindi News

देशव्यापी आपात हेल्पलाइन नंबर 112 से मंगलवार को 16 राज्य और केंद्र प्रशासित प्रदेश जुड़ गए। इस नंबर को डायल करने पर परेशानी में फंसे शख्स को तत्काल सहायता मिलेगी। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को इसकी शुरुआत की। यह हेल्पलाइन नंबर पुलिस (100), आग (101) और महिला (1090) हेल्पलाइन नंबरों का एकीकृत नंबर है। स्वास्थ्य हेल्पलाइन (108) को भी जल्द इसके साथ समाहित किया जाएगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार नागरिकों, खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है जिनके लिए कानून में बदलाव किया गया। ताकि समयबद्ध तरीके से दोषियों को सजा सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि अगले साल से देशभर में हेल्पलाइन नंबर 112 सक्रिय हो जाएगा और सिर्फ एक बटन दबाकर कोई भी जरूरतमंद शख्स हेल्पलाइन तक पहुंच सकता है।

जिन 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में यह प्रणाली शुरू की गई है, उनमें आंध्रप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, गुजरात, पुडुचेरी, लक्ष्यद्वीप, अंडमान, दादर नगर हवेली, दमन और दीव, जम्मू कश्मीर है। हिमाचल प्रदेश और नगालैंड में हेल्पलाइन-112 की शुरुआत पहले ही हो चुकी है। 

112 डायल करते ही दस लोगों तक पहुंच जाएगी सूचना
112 एप डाउनलोड करने के बाद उसमें 10 परिजनों/दोस्तों के नंबर जोड़े जा सकते हैं और जब कभी फोनधारक 112 डायल करेगा। इससे जुड़े सभी नंबरों को भी इसकी सूचना मिल जाएगी। एप जीपीएस या मोबाइल ऑपरेटर के टावर के जरिये नंबर डायल करने वाले का लोकेशन अपने-आप पता कर लेगा।

एप के जरिये आम लोग स्वयंसेवक के रूप में अपने-आप को पंजीकृत करा सकते हैं। जब भी कोई व्यक्ति 112 नंबर डायल करेगा तो पुलिस के साथ ही निकटस्थ स्वयंसेवक को भी एक संदेश जाएगा। इस नंबर पर की गयी पूरी बात रिकॉडेड होगी। 

दो और पहल की शुरुआत 
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गाँधी ने इस कार्यक्रम में महिला सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण दो और पहल की शुरुआत की। मेनका गांधी ने सुरक्षित शहर क्रियान्वयन निगरानी पोर्टल और राजनाथ सिंह ने यौन अपराधों की जांच की स्थिति पता करने की ऑनलाइन प्रणाली की भी शुरुआत की।

इन राज्यों नें शुरू हुई योजना
आंध्रप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, गुजरात, पुडुचेरी, लक्ष्यद्वीप, अंडमान, दादर नगर हवेली, दमन और दीव, जम्मू कश्मीर है। हिमाचल प्रदेश और नगालैंड में हेल्पलाइन-112 की शुरुआत पहले ही हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com