18 percent of swine flu cases in Delhi across the country – H1N1: देशभर में स्वाइन फ्लू के 18 फीसदी मरीज दिल्ली में, Ncr Hindi News

राजधानी दिल्ली में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ी रही है। मंगलवार को जारी केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल देशभर के स्वाइन फ्लू के कुल मरीजों में लगभग 18 फीसदी दिल्ली में सामने आए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक 17 फरवरी तक देश में स्वाइन फ्लू के 12191 मरीज सामने आए हैं।

राजधानी दिल्ली में राजस्थान (3508) के बाद स्वाइन फ्लू के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक एक जनवरी से 17 फरवरी तक 47 दिन के अंदर राजधानी में 2278 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है और सात लोगों की इस वजह से मौत हुई है। हालांकि राममनोहर लोहिया और सफदरजंग अस्पताल में ही डॉक्टर अभी तक स्वाइन फ्लू के 17 मरीजों की मौत की जानकारी दे रहे हैं। सफदरजंग अस्पताल की प्रवक्ता पूनम ढांडा के मुताबिक उनके अस्पताल में इस साल स्वाइन फ्लू के शिकार सात लोगों की मौत हुई और सभी आईसीयू और आइसोलेशन ईकाई मरीजों से फुल हैं। 

राम मनोहर लोहिया में जनवरी में ही डॉक्टरों ने स्वाइन फ्लू के शिकार 10 लोगों की मौत की पुष्टि की है। हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रजनीश मल्होत्रा के मुताबिक जिन लोगों को दिल की बीमारियां हैं और लंबे समय से बीमार हैं, ऐसे लोगों के लिए स्वाइन फ्लू जानलेवा हो सकता है। सोमवार को मंत्रालय की रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली सरकार ने भी एक बार फिर स्वाइन फ्लू को लेकर गाइडलाइन जारी की है। 

बुखार के बिना भी स्वाइन फ्लू हो सकता है
साकेत स्थित मैक्स अस्पताल के डॉ. विवेका कुमार का कहना है कि उनके पास स्वाइन फ्लू के लगातार मरीज देखने को मिल रहे हैं। कई मरीज ऐसे भी सामने आ रहे हैं, जिन्हें बुखार की शिकायत नहीं है लेकिन कई दिनों से जुकाम, सर्दी और बदनदर्द के अलावा कमजोरी व उल्टी-चक्कर आने की समस्या से परेशान हैं। जांच में ये लोग स्वाइन फ्लू ग्रस्त मिल रहे हैं। वहीं बुखार एंव खांसी, गला खऱाब, नाक बहना या बंद होना, सांस लेने में तकलीफ एवं अन्य लक्षण जैसे बदन दर्द, सिर दर्द, थकान, ठिठुरन, दस्त, उल्टी, बलगम में खून आना इत्यादि भी हो सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com