Abu Dojana al Bangali send Bangladeshi militants in India – खुलासा: अबु दोजाना भारत में भेज रहा बांग्लादेशी आतंकी, Bihar Hindi News

भारत में आईएस के नेटवर्क को खड़ा करने की अहम जिम्मेदारी अबु दोजाना-अल-बंगाली नाम के आतंकी पर है। इस्लामिक स्टेट बांग्लादेश के मिलिट्री विंग का चीफ यह आतंकी ही भारत में घुसपैठ कराकर आईएस को खड़ा करने की कोशिश कर रहा है। भारत पहुंच चुके आतंकियों से हालांकि वह खुद संपर्क में नहीं रहता है। इसके लिए हिंदी-अल-मेहंदी नाम का एक शख्स है। आतंकियों का हैंडलर यही शख्स बताया जा रहा है। जांच एजेंसियों को शक है कि हिंदी-अल-मेहंदी संभवत: आईएस, बीडी के किसी बड़े आतंकी का कोड नेम है। 

खैरुल और अबु दोनों पहले जमीयत उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के सदस्य थे। उस वक्त इन्हें आतंक का पाठ नुरुल होदा नाम के शख्स ने पढ़ाया था। बाद में जेएमबी आईएस, बीडी में शामिल हो गया। पर दोनों नुरुल होदा के साथ आतंकी गतिविधियों में शामिल रहे। खैरुल और अबु दोनों का गुरु नरूल ही है पर अबु से उसके संबंध ज्यादा नजदीकी थे। 

सूत्र बताते हैं कि नुरुल बांग्लादेश में मुर्गी फॉर्म चलाता था। इसमें अबु की भी हिस्सेदारी थी। इसी वजह से दोनों के बीच ज्यादा मजबूत संबंध भी रहा। कुछ साल पहले आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में नुरुल पकड़ा गया। इसके बाद खैरुल और होदा की टीम में शामिल दूसरे आतंकी अबु दोजाना के दिशा-निर्देश पर काम करने लगे। 

खैरुल ने होदा से सीरिया या कश्मीर भेजने को कहा था
सूत्रों के मुताबिक जांच में यह बात सामने आई है कि खैरुल ने अपने पुराने गुरु नुरुल होदा से सीरिया भेजने की गुजारिश की थी। पर उसे समझाया गया कि सीरिया के अलावा भी हमें दूसरे देशों में काम करने की जरूरत है। सीरिया भेजने से मना करने पर खैरुल ने जम्मू-कश्मीर जाने की इच्छा जताई थी। 

चार राज्यों की एटीएस व एसटीएफ कर रही पूछताछ
पटना और पुणे से गिरफ्तार बांग्लादेशी आतंकियों से पूछताछ के लिए कई राज्यों की एटीएस यहां पहुंची है। तीन राज्यों से जहां एटीएस के अफसर पूछताछ करने आए हैं वहीं कोलकाता से एटीएफ की टीम पटना आई है। जल्द ही कुछ और राज्यों की पुलिस के भी आने की उम्मीद है।

महाराष्ट्र, झारखंड व एमपी एसटीएफ पहुंची
महाराष्ट्र, झारखंड और मध्यप्रदेश से एटीएस की टीम पटना आई है। एटीएस की टीम खैरुल मंडल अबु और शरियत मंडल से पूछताछ कर रही है। इसके अलावा कोलकाता एसटीएफ के अफसर भी पूछताछ करने पहुंचे हैं। सूत्रों के मुताबिक जल्द ही तेलंगाना और गुजरात से भी पुलिस टीम आतंकियों से पूछताछ करने आ सकती है। इसके अलावा केन्द्रीय एजेंसियां भी पूछताछ कर रही हैं। 

खैरुल व अबु दस दिनों के रिमांड पर हैं
पटना से गिरफ्तार खैरुल और अबु एटीएस के दस दिनों के रिमांड पर हैं। वहीं शनिवार को शरियत का भी नौ दिनों का रिमांड मिला है। तीनों आतंकियों से अलग-अलग पूछताछ की जा रही है। जरूरत पड़ने पर तीनों को आमने-सामने कर भी पूछताछ की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

www.000webhost.com